logo

प्रियंका गांधी ने दिया चुनाव नहीं लड़ने का संकेतअखिलेश मसले पर विपक्षी दलों ने विधान परिषद में फिर सरकार को घेराहिंसा के चलते इलाहाबाद विश्वविद्यालय की परीक्षाएं स्थगित, यूनिवर्सिटी बंदपंजाब विधानसभा के बजट सत्र में हंगामा, शिअद विधायकों ने किया वाकआउटरोहतक में प्रेम विवाह करने वाले युगल की हत्‍या से सनसनीसेंसेक्स 119 अंक तक टूटा-निफ्टी 10800 के नीचे हुआ बंदअश्वनी लोहानी को मिली दूसरी बार एयर इंडिया की कमानसुस्त मांग से सोना फिर हुआ सस्तामनोहर सरकार की युवाओं व किसानों को लुभाने की कोशिशपूर्व डीएसपी जगदीश भोला को ड्रग रैकेट में 10 साल की कैदअसम में कांग्रेस पर बरसे पीएम नरेंद्र मोदी, नागरिकता बिल की जोरदार वकालतभाजपा ने मांगी और सीटें, शिअद का इन्कार, पुराने फॉर्मूले पर ही चुनाव लड़ेगा गठबंधनआतंकी फंडिंग से बनीं मस्जिदों व मदरसों पर गिर सकती है गाजकांग्रेस के हुए कीर्ति आजाद, कहा- दरभंगा से लड़ेंगे चुनावहरियाणा में काडर खड़ा करने फिर दौरे पर निकलेंगे ओमप्रकाश चौटालादेश के हर घर में जल्द ही खाना पकाने के लिए स्वच्छ ईंधन होगा: धर्मेंद्र प्रधानहिंसक हुआ गुर्जर आंदोलन, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के 3 वाहनों में आग लगाईआतंकियों को मजबूत कर रहे अमेरिका और जर्मनी के हथियारकार्यक्रम में शामिल होने आए जिग्नेश मेवानी और खालिद का विरोधजल्द ही दिल्ली मेट्रो में खत्म हो जाएगा टोकन व स्मार्टकार्ड

पूर्वी दिल्ली में प्रायोगिक तौर पर शुरू हुई बाइक एंम्बुलेंस सर्विस

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पूर्वी दिल्ली के लिए प्रायोगिक तौर पर बाइक एम्बुलेंस सेवाओं की शुरूआत की और कहा कि यह सेवा भीड़भाड़ वाले इलाके में अस्पताल ले जाने से पूर्व त्वरित चिकित्सा प्रदान करेगी। दिल्ली सचिवालय के बाहर 16 बाइक एम्बुलेंसों को हरी झंडी दिखाने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में केजरीवाल ने कहा कि यह लोगों के लिए आम आदमी पार्टी द्वारा उठाया गया एक बड़ा कदम है।मुख्यमंत्री ने कहा कि संकरी गलियों में प्रवेश करने में एम्बुलेंस को मुश्किल का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा, अगर संकरी गलियों में कोई आपात चिकित्सा स्थिति होती है तो बाइक एम्बुलेंस वहां जा सकती हैं और मरीजों को तत्काल अपनी सेवा मुहैया करा सकती है। आप प्रमुख ने कहा कि आगामी दिनों में बाइक एम्बुलेंस की संख्याओं में बढ़ोतरी होगी। केजरीवाल ने कहा, स्वास्थ्य क्षेत्र में यह एक बड़ा कदम है। हर कोई जानता है कि दिल्ली सरकार शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में अच्छा काम कर रही है। उन्होंने कहा कि यह यातायात दृष्टिकोण से भी अच्छा है।एक साल पहले खरीदी गई थींतंग गलियों और भारी जाम से भी निकालकर मरीज को अस्पताल पहुंचाने के लिए सरकार ने पिछले वर्ष बाइक एंबुलेंस खरीदी थीं। इन 16 बाइक एंबुलेंस को फर्स्ट रिस्पांडर व्हीकल (एफआरवी) नाम दिया है। सभी बाइक फर्स्ट एड किट से लैस होंगी। आॅक्सीजन के छोटे सिलेंडर भी होंगे। इन पर एंबुलेंस की तरह ही लाइट और सायरन लगा है। प्रदूषण को देखते हुए इन बाइक पर ग्रीन किट लगाई है। पूर्वी दिल्ली के शाहदरा, पूर्वी और उत्तरी पूर्वी जिलों में इसे चलाया जाना है। इसे प्रशिक्षित पैरामेडिकल कर्मचारी चलाएगा। यह मरीज को एक स्थान से दूसरे स्थान पर शिफ्ट नहीं करेगा। यह सुविधा रात में उपलब्ध नहीं होगी। फर्स्ट एड किट तक नहीं लगीबाइक खरीदने के बाद सरकारी विभागों की लापरवाही के चलते इन पर फर्स्ट एड किट नहीं लगाई गई। पांच माह गुजरने के बाद भी किट उपलब्ध नहीं हुई। वहीं नई बाइक की सर्विस कराने का वक्त भी आ गया था। पहली सर्विस पिछले वर्ष अक्तूबर में हुई थी। बताया जा रहा है कि अब लांच से पहले भी एक और सर्विस कराई गई है।50 से अधिक उम्र का भी रोड़ाबीते दिनों दिल्ली कैट्स यूनियन बाइक एंबुलेंस को लेकर विरोध भी जता चुकी है। यूनियन की मानें तो बाइक एंबुलेंस के लिए 50 से अधिक उम्र के कर्मचारियों को तैनात किया जा रहा है, जबकि शारीरिक रूप से ये बाइक एंबुलेंस के लिए सक्षम नहीं है। यूनियन ने राज्यपाल को लिखे पत्र में कहा था कि बाइक एंबुलेंस पर आॅक्सीजन सिलेंडर समेत 35 किलो वजन की सामग्री होगी। ऐसे में अगर युवाओं को इस नई बाइक एंबुलेंस सेवा की जिम्मेदारी दी जाए, तो बेहतर होगा। .